Breaking News

ज्ञानवापी परिसर में मुस्लिम पक्ष ने मांगा वजूस्थल और टॉयलेट:सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर वाराणसी डीएम पहुंचे ज्ञानवापी; रिपोर्ट तैयार, SC में करेंगे दाखिल

वाराणसी के ज्ञानवापी मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मंगलवार को डीएम एस. राजलिंगम ने मुस्लिम पक्षकारों से वार्ता की। उनकी दुश्वारियों सुनी और उनकी मांगों की एक रिपोर्ट तैयार की। मुस्लिम पक्षकारों ने ज्ञानवापी परिसर में वजूस्थल और टॉयलेट की मांग रखी है। अलविदा की नमाज और ईद की नमाज पर रमजान के बाद भी स्थाई व्यवस्था बनाए रखने की बात कही। उन्होंने धार्मिक भावनाओं का ध्यान रखते हुए प्रशासन से मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने की अपील की है।

डीएम एस. राजलिंगम मंगलवार दोपहर में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ ज्ञानवापी परिसर पहुंचे थे। उन्होंने पहले परिसर का निरीक्षण किया। मस्जिद में प्रवेश और नमाज स्थल को देखा। परिसर आने वाले नमाजियों के नमाज पढ़ने और वजू करने की वर्तमान व्यवस्था को भी देखा। फिर परिसर के कक्ष में ही मुस्लिम पक्षकारों से वार्ता की।

बैठक में मुस्लिम पक्षकार अंजुमन इंतजामिया मसाजिद के प्रमुख सैयद मोहम्मद यासीन ने कहा,”परिसर में नमाजियों को वजू करने के लिए स्थाई जगह नहीं है। इसके लिए आने वाले नमाजियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। गर्मी और धूप के बीच वजू के पानी के निकास का भी उचित प्रबंध नहीं है। इसके अलावा, परिसर में टॉयलेट की भी व्यवस्था नहीं है। हमने सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में परिसर के अंदर नमाजियों और आने वाले मौलानाओं की मूलभूत सुविधाओं को मुहैया कराने की मांग उठाई है।”

डीएम बोले- सभी सुझाव सुप्रीम कोर्ट में भेजेंगे

मुस्लिम पक्ष के अन्य सदस्यों ने भी जुमा, अलविदा और ईद कर नमाज में स्थाई व्यवस्था और पर्याप्त जगह मुहैया करने की बात डीएम वाराणसी से दोहराई। इसके अलावा, छोटी-बड़ी कई मांगे भी रखी गईं। डीएम एस. राजलिंगम ने सभी की बातों को सुनकर बिंदुवार बनाकर सुप्रीम कोर्ट में भेजने का आश्वासन भी दिया। इस बैठक में डीएम, एडीएम प्रशासन के साथ मुस्लिम पक्ष से हाजी इकलाक अहमद, मौलाना अब्दुल बातिन, शमशेर खां, एजाज अहमद मौजूद थे।

अब सुप्रीम कोर्ट में 21 अप्रैल को सुनवाई
इस बैठक के बाद अब सुप्रीम कोर्ट में 21 अप्रैल को सुनवाई होगी। बैठक में दिए गए सुझावों और मांगों को कोर्ट में रखा जाएगा। सुनवाई की अगली तारीख पर औपचारिक आदेश दिया जा सकता है। मुस्लिम पक्ष ने मांग याचिका दायर करते हुए कहा था कि वजू के लिए पानी का इस्तेमाल ड्रम से किया जा रहा है और रमजान को देखते हुए नमाजियों की संख्या बढ़ गई है।
इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को वाराणसी के डीएम को निर्देश दिया था कि ज्ञानवापी परिसर में मुस्लिम श्रद्धालुओं के लिए वजू के लिए अनुकूल व्यवस्था देने के लिए एक बैठक आयोजित करें।

About Author@kd

Check Also

गर्मी के कहर से हुआ हाई अलर्ट जारी 

    ख़बर दृष्टिकोण लखनऊ।   29 मई से 2 जून तक सुबह 10 बजे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!